दूधवाली गर्लफ्रेंड का दूध पिया भाग २

दोस्तों अभी भी उसको खाना बनाने के लिए बहुत देर होने वाली थी तो वो मुझे देखती जाती और काम करती, शायद उसने मन में ठान लिया था कि वो मुझसे चुदवाकर ही रहेगी और में भी अब वही मौका ढूँढ रहा था। मैंने बहुत सारी सेक्स कहानियाँ पढ़ी थी और बहुत बार सेक्स भी किया था। फिर अचानक उसने पूछा कि क्या सोच रहे हो प्रवीण? में थोड़ा शरमाया। फिर उसने मुझसे पूछा कि तुमने कभी सेक्स किया नहीं होगा इसलिए तुम क्या जानो इसकी प्यास को और मेरे पति हमेशा दारू पीने के लिए बाहर जाते है और फिर वो थोड़ी उदास हो गयी? और मेरे बहुत करीब बैठी रही। फिर उसने एक बूब्स को वापस आधा बाहर निकालकर मेरे मुहं में डाला तो में उसके मस्त मस्त निप्पल को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और इन सब कामों से मेरा लंड खड़ा हो चुका था। फिर उसकी नज़र उस पर पड़ी और वो मुझे पटाने लगी और बोली कि प्रवीण सेक्स में कोई रिश्ता नहीं होता है। एक लंड और चूत के बीच में कोई रिश्ते नहीं होते भाई, बहन, माँ और अब वो धीरे धीरे मेरे लंड को पेंट के ऊपर से ही सहलाने लगी, मेरा उधर ध्यान ही नहीं था और उस समय मैंने जीन्स पहनी हुई थी। फिर वो कब खड़ा हुआ मुझे पता ही नहीं चला और मेरा पूरा ध्यान बूब्स पर था। फिर मैंने हिम्मत करके उससे पूछा कि तुम हमेशा इस बूब्स से मुझे दूध पिलाओगी क्या? और वो मुस्कुराकर बोली कि में बारी बारी से बूब्स को बदल देती हूँ।

फिर उसने मेरे लंड पर धीरे से मारा और कहा कि सचमुच तुम बड़े ही बदमाश हो। फिर उसने मुझे बोला कि चलो आओ इधर का थोड़ा दूध तुम पी लो तुम्हारी भी भूख दूर हो जाएगी और में जल्दी से उसके पास गया तो उसने अपने ब्लाउज के तीन बटन खोले और पहले बूब्स को अंदर कर दूसरे बूब्स को बाहर निकाला और मेरे सर को पकड़कर मेरे मुहं में अपने निप्पल को डाल दिया, में ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और उसका दूध पीने लगा, उसे बहुत ज्यादा दर्द होने लगा तो वो बोली कि थोड़ा धीरे धीरे पीना में कहाँ भागी नहीं जा रही हूँ? दो तीन मिनट बूब्स पीने के बाद वो बोली कि थोड़ा बाद में पीने के लिए रखती हूँ और इसे वापस पिला दूँगी। फिर में उसकी यह बात सुनकर थोड़ा नाराज़ हो गया तो वो बोली कि प्रवीण नाराज़ मत होना, मेरी प्यास बुझाते बुझाते में यह दूध तुम्हें पीने के लिए दूँगी और फिर में खुश हो गया और मेरी मुस्कुराहट को देखकर वो भी अब खुश हो गई, उसने मुझे बुलाया और तब उसने गाऊन ही पहना हुआ था और उसने गाऊन पर बूब्स के वहां पर एक चैन लगाई हुई थी ताकि वो बच्चे को दूध पिला सके। फिर उसने मुझे पास सोने को कहा और अपने एक बूब्स का निप्पल मेरे मुहं में डाल दिया और में वापस चूसने लगा। मुझे अभी तक पूरे के पूरे बूब्स नहीं दिखाए दे रहे थे और में उसका बहुत सारा दूध पी चुका था। फिर उसने मुझे पूछा कि कैसा लग रहा है मेरा दूध? फिर मैंने कहा कि में दूध को पीने के लिए मना करता वो भैस और गाय का, लेकिन जब मैंने यह दूध पिया तो मुझे दूध पीने में मज़ा आने लगा है, क्या मस्त स्वाद है इस दूध का?

वो मुस्कुराकर बोली और चाहिए क्या? फिर मैंने कहा कि हाँ फिर वो दूसरे बूब्स को बाहर निकालने वाली थी, तब मैंने कहा कि जानू मुझे तुम्हारे पूरे बूब्स को देखना है। फिर वो मुझे बोली कि ठीक है प्रवीण तुम बहुत ही बदमाश हो। फिर उसने अपना गाऊन निकाला और तब उसने पेंटी के अलावा कुछ भी नहीं पहना हुआ था, उसने मुझे भी अपने कपड़े निकालने के लिए कहा। फिर उसने ही मेरी पेंट निकाली और टी-शर्ट भी, अब में भी सिर्फ़ अंडरवियर में था और उसके बूब्स तो बिल्कुल मलिका के जैसे थे, उसकी निप्पल क्या मस्त दिख रही थी और वो ऊपर से नीचे पूरी गोरी बहुत सुंदर थी बिल्कुल मधुबाला जैसी, उसको देखकर हर एक का मन चोदने को करेगा। फिर उसने कहा कि क्या सोच रहे हो प्रवीण? क्या तुम्हे में पसंद नहीं आई? फिर मैंने उससे कहा कि तुम तो मधुबाला जैसे दिखती हो तो वो मुस्कुराई और मुझसे दूध पीने को कहा। में अब बहुत गरम हो चुका था और मेरा लंड 7.5 इंच का था, वो अब 9.5 इंच का हो गया था। फिर मैंने ज़ोर ज़ोर से बूब्स को चूसना शुरू किया और उस समय उसने मेरे अंडरवियर में हाथ डालकर लंड को सहलाने लगी, उसने अपनी स्पीड को बड़ा दिया और फिर में जल्दी ही झड़ गया और मैंने मेरा वीर्य उसके हाथ पर डाल दिया और वो मुझे देखकर मुस्कुराई और बोली कि प्रवीण आज से तुम मेरे पास ही सोना, जब तक मेरे पति नहीं आ आते।

फिर में उससे लिपट गया और किस करने लगा। उसने मेरे सारे कपड़े उतार दिए और वो मेरे लंड को देखकर बोली कि तुम्हारा तो बहुत बड़ा है गधे के लंड के बराबर ही है। फिर में उसकी यह बात सुनकर थोड़ा नाराज़ हुआ और फिर वो बोली कि उदास होने की ज़रूरत नहीं है। फिर उसने मेरा लंड उपने हाथों में ले लिया और नीचे अपने घुटनो पर बैठ गई और मुझे बेड पर बैठा दिया। फिर वो मेरा लंड चूसने लगी और बोली कि तुम्हारा लंड का स्वाद बहुत ही मीठा है और में मुस्कुराने लगा। फिर एक मिनट बाद वो ज़ोर ज़ोर चूसने लगी तो मैंने कहा कि मुझे बहुत दर्द होता है थोड़ा धीरे धीरे करो। फिर वो बोली कि प्रवीण कुछ सीखने के लिए मेहनत तो करनी पड़ती है और फिर करीब चार पांच मिनट चूसने के बाद में झड़ गया और मैंने पूरा वीर्य उसके मुहं में डाल दिया। फिर मैंने उससे सॉरी कहा तो उसने कहा कि उसमें सॉरी कहने की ज़रूरत नहीं है और यह रस पीने के लिए तो में कब से राह देख रही थी, लेकिन मेरे पति तो कमजोर शरीर के कारण मुश्किल से एक दो बार में ही झड़ जाते थे तो मुझे रस पीने को नहीं मिलता था, इसलिए में कल अपनी चूत में अपने उंगली डालकर खुद को चोद रही थी और उंगली चाट रही थी और आज तुमने रस पिलाकर मेरी एक इच्छा पूरी की है।

फिर उसने अपना गाऊन बाहर निकाला और वो अब मेरे सामने पूरी नंगी थी, क्या मस्त फिगर था उसका, मस्त गोरी गोरी जांघे थी और चूत के ऊपर उसने मस्त डिज़ाईन में बाल साफ किए थे और उसकी बहुत मस्त चूत थी। फिर उसने कहा कि प्रवीण अब तुम मेरी चूत को चाटना और मेरी दूसरी इच्छा को पूरा करना और उसने मेरे सर को अपनी चूत से लगाया। मैंने अब उसकी चूत को चूसना, चाटना शुरू किया और वो ज़ोर से चीखने, चिल्लाने लगी, आहह्ह्ह आईईईई। फिर में डर गया और पीछे हट गया, तभी उसने कहा कि डरो मत प्रवीण मुझे मज़ा आ रहा है। फिर में और भी ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और उसकी चूत की गरमी और खुशबू मुझे और जोश में लाने लगी। मैंने उसकी चूत में अपनी उंगली डाल दी और धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा और वो ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी, आहह्ह्ह्ह आह्ह्हह्ह्ह्ह डार्लिंग तुम बहुत मस्त चूसते हो, हाँ और ज़ोर से मेरे पति को यह पसंद ही नहीं था, लेकिन तूने मुझे बहुत खुश कर दिया है और में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ, प्रवीण तुम बहुत अच्छे हो। फिर कुछ देर चूसने के बाद उसकी चूत भी झड़ चुकी थी और में उसकी चूत का पानी पी गया और चाट चाटकर मैंने पूरी चूत को साफ कर दिया और थोड़ी देर फिर हम दोनों चूमने लगे, उसके होंठ बहुत रसीले थे। फिर उसने मेरे लंड को पकड़कर अपनी चूत के पास लिया और अब उसे अपनी चूत में डालने को कहा। फिर में धीरे धीरे मेरे लंड को उसकी चूत में डालने लगा और वो ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी, लेकिन अभी तक मेरा लंड थोड़ा ही अंदर गया था। फिर उसने कहा कि प्रवीण और ज़ोर लगाओ और चोद डालो अपनी इस गर्लफ्रेंड को और मैंने एक ज़ोर का धक्का दिया और अब मेरा लंड चूत के अंदर आधा चला गया और वो ज़ोर से चिल्ला उठी, उसकी चूत से थोड़ा सा खून भी निकलने लगा। फिर मैंने डर के मारे लंड को बाहर निकाला। फिर उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ? खून को देखकर वो बोली कि बहुत दिनों के बाद चुदने के बाद ऐसा ही होता है, प्रवीण तुम मत डरो, में हूँ डार्लिंग, प्लीज़ चोदो मुझे और अब मैंने ज़ोर ज़ोर से धक्के देना शुरू किया, दो तीन मिनट बाद मेरा पूरा लंड अंदर चला गया।

दोस्तों उसकी चूत मुझे अच्छी लगने लगी, एक घंटे के बाद मेरा लंड झड़ गया और मैंने पूरा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया और वो मुझसे बहुत खुश हो गई और मुझे चूमने लगी, में थक चुका था, क्योंकि यह मेरा लंबे टाईम चलने वाला सेक्स था। तब उसने मुझसे कहा कि क्यों प्रवीण इतने में ही खुश हो गया? और चोदो अपनी डार्लिंग को मेरे पति जैसा कमजोर मत बनो। फिर उसके कुछ देर बाद में एक बार फिर में जोश में आ गया और उसको चोदने लगा, इस बार मेरी स्पीड बहुत ज्यादा थी और मैंने ज्यादा समय तक चोदा लगभग एक घंटे तक। मेरी डार्लिंग मुझसे बहुत खुश हो गई और इस बार वो जल्दी झड़ गई थी और थोड़ी देर बाद में भी। मैंने मेरा पूरा वीर्य उसकी चूत में डाल दिया और जिससे उसकी चूत पूरी भर चुकी थी और थोड़ा वीर्य बाहर भी आ चुका था। मैंने चूत को चाटना शुरू कर दिया। फिर उसने मेरे लंड को चाटना शुरू कर दिया और उसे पूरी तरह से साफ कर दिया। फिर उसने मेरी तरफ पीठ करके अब अपनी गांड में लंड को घुसाने को कहा। सबसे पहले मैंने उसकी गांड अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया। फिर अपनी उँगलियों को डालने लगा, उसकी गांड बहुत टाईट थी, शायद उसके पति ने उसकी गांड कभी नहीं मारी थी और इस बार वो बहुत ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी, आहह्ह्ह्हह उह्ह्ह्हह्ह्ह्ह प्रवीण मेरी गांड की प्यास बुझा डाल, तीन चार मिनट उंगलियों को अंदर बाहर करने के बाद मैंने अपने लंड को उसकी गांड में डाल दिया और एक ज़ोर से धक्का दिया और मेरा आधा लंड अंदर चला गया, मेरी रानी बहुत ज़ोर से चिल्ला उठी और फिर मैंने दूसरे धक्के में ही मेरे लंड को बहुत अंदर डाला तो वो ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी।

फिर में धीरे धीरे अंदर बाहर कर रहा था, आधे घंटे के बाद मेरा लंड झड़ गया और मैंने पूरा वीर्य उसकी गांड में डाल दिया और इस तरह मैंने उसकी उस रात में तीन बार गांड मारी और पांच बार चुदाई की। अब में बहुत थक गया था तो में हिल भी नहीं पा रहा था, मेरा पूरा बदन कांप रहा था और में अपने कमरे में जा नहीं सकता था, इसलिए उसने खुद मेरे कमरे में ले जाकर अपना दूध मुझे पिलाकर सुलाने लगी और हम दोनों उधर ही सो गए, हम दोनों नंगे ही सो रहे थे। फिर उसने मुझसे कहा कि प्रवीण तुम बहुत अच्छी चुदाई करते हो, तुम बहुत अच्छे हो और तुमने आज मेरी सभी इच्छा पूरी की है। दोस्तों में बहुत थक चुका था तो उसने मुझसे अपने बूब्स को थोड़ी देर चूसने को कहा और वापस में उसका दूध पीने लगा, वो मुस्कुराई और बोली कि अब हम हर रोज ऐसे करते रहेंगे और अब में उसको हर रोज चोदने लगा था, लेकिन में उसकी वो बात कभी नहीं भूला जो उसने मुझसे कही थी कि सेक्स सिर्फ़ चूत और लंड का रिश्ता होता है उसमें कोई रिश्ते नहीं होते है। फिर एक दो महीने बाद ही वो मेरे घर पर आ गई थी, तब वो मुझे खींचकर एक अलग कमरे में लेकर गई जहाँ पर कोई भी नहीं था और मेरे होंठो को और गालों को चूमा। फिर मेरे कान में बोली कि तुम हमारे बच्चे के बाप बनने वाले हो। फिर वो बोली कि प्रवीण डरो मत यह बात में किसी से नहीं कहूँगी, क्योंकि में तुमसे बहुत प्यार करती हूँ प्रवीण। दोस्तों तब में 23 साल में ही बाप बन चुका था। फिर मैंने उसको चूम लिया और बोला कि तुम मेरी सबसे अच्छी गर्लफ्रेंड हो और फिर हम दोनों मुस्कुराते रहें ।।

धन्यवाद …


Comments are closed.




चुदाई वाह रे भाई indian bus sex storiesdo bhabhi ki chudaimeri kuwari chut ki chudaicaci.ki.beti.partiksha.ki.sil.todi.sax.stohrisex story hindi latestदेसी रिश्तों में सबसे लम्बी गैंगबैंग सेक्स स्टोरीwww indian chootगाव का मन्नु sexy desi hindi kahani comaunty ki hawasharyana me kiya 10inch ka land hindi sex storybhabhi chudai hindi kahanichhoti chootbahan ko choda hindi storypurani chootporn story marathinagpur me chudaiantarvasna onlinesaadi suhayrat me samuhik chudaigaon ki gori ki chudaisexy aunty ki kahanisexy kahani bhai behan kiindian fuck story in hindipenty sarkai nind me.bhartiy sexantarvasna indian sex storyhindi sexy story bhabi ki chudaimarwadi ki chuthindi sexi chutbhai behan ki gand marimaa ki sexy chudaiSavita bhabhi ki blacmail karke chodaMay 2015 हमसे सम्पर्क करें Free Hindi Sex Stories - Hindi behan ka lundbiwi ki chutmammi ko choda मुझे hostal lejakarchudaikehindistoryराज शर्मा की चुदाई की कहानी भाई ने कुमारी नन्दpitaji ke kehne pe maa ki chudai xossip exbiilarki ki chudaisasur and bahu manmauj xxxwww didi ki chudai ki kahani commaa ki chudai desi storiesjism ka suda karti huw sixMaa ne chadaya lund par condumpujaran ki chudaiआंटी कहानिpornsexestoryhindiNeha ko uske Ghar par chodachoti bahan nitu ki chudai hindi font sex storybaap ne beti ko choda storychoot lund storybibi ke badle bhan ki cudaixxx hindi kathapriya didi ki chudaichudai ki kahani besthindi kamuktasex stories with salimoti chudaiantarvasna hindi sex story downloadbhabhi ko choda akele meजवान लडकी कहानीantrvasna hindi sexy storyantarvasna bhaihindi chut ki chudai storyafrican ne chodahindisexstoremaasas ko kichan mai choda antarwana hindi sex kahaniyaaunty chut sexbhai behan ki chudai hindi storiesfassa kar rishton mein chudai ki sitesdoodh wale se chudaidesi erotic kahanibhabhi ke sath sexchuut chudaiharyana aunty sexkamaveri commastram ki kahani in hindi fontgand mari ladki kinew sexy chudai ki kahanihindi sambhog kahaniyasex chudai story in hindihindi secy storyapni bhen ki jhanto wali chut zabrdasti chodivasana storychut land sex storysuhagrat desihindi sax kahni