वाह रे मौसी तेरी कमसिन चूत

Waah re mausi teri kamsin chut:

sex stories in hindi, desi porn kahani

मेरा नाम रोशन है और मैं एक छोटी सी दुकान चलाता हूं। मेरी दुकान हमारी सोसाइटी के अंदर ही है और हमारी सोसाइटी में जितने भी लोग आते हैं वह मेरी दुकान पर सही सामान लेकर जाते हैं। मैं मोबाइल रिचार्ज का काम भी करता हूं। इसलिए मेरे मोहल्ले के लोग रिचार्ज भी करवा लेते हैं और अगर कभी वह मेरी शॉप पर नहीं आ पाते तो वह मुझे फोन कर दिया करते हैं और कहते हैं कि तुम हमारा रीचार्ज कर दो और मैं उनका रिचार्ज कर देता हूं। वह मुझे बाद में भी पैसे दे दिया करते हैं। हमारे पड़ोस में ही एक लड़की रहने के लिए आई। वह हमारे पड़ोस में ही आई थी उनका मकान और हमारा मकान बिल्कुल सटा हुआ था। वह अपने भैया के साथ रहती थी। कभी कबार वह हमारी दुकान पर भी आ जाती थी। मुझसे रिचार्ज करवा लेती। मैंने एक दिन उसका नाम भी पूछ लिया उसने अपना नाम पारुल बताया। वह बहुत ही सिंपल सी लड़की थी और जब भी वह हमारी दुकान पर आती तो सलवार सूट में आती। वह बहुत ही सुंदर लगती थी। मुझे बहुत ही पसंद थी लेकिन मैं उससे ज्यादा बात नहीं करता था। क्योंकि वह हमारे पड़ोस में ही थी। इसलिए मैं सोचता था कि कहीं यह कुछ गलत ना समझ ले। इस वजह से मैं उससे ज्यादा बात नहीं करता था।

एक दिन पारुल मेरी दुकान में आए और कहने लगी कि क्या आप मुझे अपना नंबर दे सकते हैं अगर मैं कभी आ न पाऊ तो आपको कह दू कि आप मेरा रिचार्ज कर दिया करें। तो आप रिचार्ज कर देंगे। मैंने उससे कहा कि ठीक है। आप मेरा नंबर ले जाइए आपको कभी भी कोई भी सामान मंगाना हो तो मैं आपके पास भिजवा दूंगा और आप का रिचार्ज भी कर दूंगा। वह यह कहते हुए मेरी दुकान से चली गई मैंने उसे अपना नंबर भी दे दिया था। वह कई बार मुझे फोन कर देती और कहते कि मेरा रिचार्ज कर दीजिए। मैं उसका रिचार्ज कर देता हूं और वह बाद में मुझे पैसे दे दिया करती थी। एक दिन मैं अपने काम के सिलसिले में अपनी दुकान से थोड़ा ही आगे निकला था। तो मैंने देखा पारुल किसी लड़के के साथ आ रही है। जब मैंने उस लड़के को देखा तो वह हमारे ही मोहल्ले का एक लड़का था और उसकी हमारे मोहल्ले में बिल्कुल भी इज्जत नहीं है। वह एक नंबर का बदमाश और गंदा लड़का है। मैंने जब पारुल को देखा तो मुझे बिल्कुल भी अच्छा नहीं लगा। मुझे उम्मीद नहीं थी कि वह ऐसे लड़के के साथ घूम सकती है लेकिन मैंने उससे यह बात नहीं करी। फिर एक दिन उसका मुझे फोन आया और मैंने उससे इस बारे में बात की तो वह कहने लगी कि वह हमारे कॉलेज में ही पड़ता है। इसलिए हम दोनों साथ में आ रहे थे। मैंने उसे बताया कि वह एक नंबर का बदमाश है और बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। तुम उससे जितनी दूरी बना कर रखो उतना तुम्हारे लिए अच्छा होगा। अब उसे यह बात मेरी बहुत अच्छी लगी और वह कहने लगी कि तुम मेरी इतनी क्यों चिंता कर रहे हो। मैंने उसे कहा कि चिंता की बात नहीं है। तुम हमारे पड़ोस में ही रहती हो इस वजह से मैं तुम्हें उस लड़के के बारे में बता रहा हूं। यदि तुम्हें मुझ पर यकीन नहीं है तो तुम किसी से भी इस बारे में पूछ सकती हो। यह कहते हुए मैंने फोन रख दिया। जब पारुल ने भी कहीं से पता करवाया होगा तो उस लड़के की इमेज बिल्कुल भी सही नहीं थी। अब एक दिन वह मेरी दुकान में आई और कहने लगी कि तुमने बिलकुल सही कहा था वह तो एक नंबर का बदमाश है।

उसने कई लड़कियों के साथ गलत हरकतें भी की है और वह बिल्कुल भी अच्छा नहीं है। उसने मुझे इस बात के लिए धन्यवाद दिया और कहने लगी कि तुमने मुझे बताया उसके लिए मैं तुम्हारा शुक्रिया कहना चाहती हूं। और हमारे बीच में अच्छी दोस्ती हो गई थी वह जब भी अपने कॉलेज जाती हो हमेशा मुझसे मिलकर जाती थी। मैं हमेशा ही उसके इंतजार में बैठा रहता था कि वह कब आएगी और कब मैं उससे बात करूंगा। जब मैं घर में जाता हूं तो हम लोग छत में भी बातें कर लिया करते थे। क्योंकि हमारी और उनकी छत बिल्कुल सटी हुई थी। उससे मेरी अब बहुत बात होने लगी। एक दिन उसने मुझे कहा कि हमारे कॉलेज में फंक्शन है, तो तुम हमारे कॉलेज में आ जाना। मैंने उससे कहा कि ठीक है मैं देखता हूं। अगर मुझे समय मिला तो मैं आ जाऊंगा। अगले दिन समय निकालकर मैं उसके कॉलेज चला गया और वह भी मेरे साथ ही थी। उनकी कॉलेज का प्रोग्राम बहुत ही अच्छे से चल रहा था और मैं भी उस प्रोग्राम को देख रहा था। वह बहुत ही अच्छे से हो रहा था। मैंने यह बात पारुल से करी तो वह कहने लगी कि मैंने भी इसी साल प्रोग्राम रखा है और बहुत ही अच्छा हो रहा है। हम लोगों ने प्रोग्राम देखने के बाद घर वापस लौट आए और पारुल मेरे साथ ही मेरी बाइक पर घर आई।

जब वह मेरी बाइक में आ रही थी तो उसके स्तनों मुझसे टकरा रहे थे और मेरा मन कर रहा था कि मैं उसे रास्ते में ही लेटा कर चोदना शुरु कर दूं।  मेरा मूड बहुत ज्यादा खराब होने लगा जब मैं पारुल के घर पहुंचा तो वह कहने लगी कि तुम मेरे साथ मेरे घर पर चलो। मैं उसके साथ उसके घर पर चला गया। जब मैं उसके घर पर गया तो वह बैठकर मुझसे बातें करने लगी और मैं भी उससे बातें कर रहा था। हम काफी देर तक ऐसे ही बातें करते रहे। उसके थोड़ी देर बाद वो कहने लगी कि मैं अभी आती हूं। जब वह चली गई तो वह अपना मोबाइल मेरे बगल में ही रख कर गई। जब मैं वह मोबाइल देख रहा था तो उसमें बहुत सारे अश्लील चित्र थे उसमें उसने अपनी नंगी फोटोए भी रखी हुई थी। जिसे देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया और अब मुझसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हुआ। जब वह मेरे पास आई तो मैंने उसे कहा कि तुम्हारे मोबाइल में तो तुम्हारी बहुत ही मस्त वाली फोटो है। वह कहने लगी कि तुमने उन फोटो को  देख लिया क्या मैंने उसे कहा हां मैंने वह सब देख ली है। मैंने अब उससे कहा कि मैं तुम्हारी पिंक चूत मारना चाहता हूं। वह मेरे बगल में आकर बैठ गई जब वह मेरे बगल में बैठी थी तो मैंने उसके होठों को अपने होठों में लेते हुए उसके स्तनों को दबाना शुरु कर दिया और काफी देर तक उसके स्तनों को मैं ऐसे ही दबा रहा था। मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया और उसका शरीर मेरे सामने नग्नअवस्था में था। मुझे काफी आनंद आ रहा था जब मैं उसके शरीर को देख रहा था। मैंने तुरंत ही उसकी पिंक चूत के अंदर अपनी उंगली को डाल दिया और उसे अंदर बाहर करने लगा।

उसकी भी उत्तेजना चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी और मेरी भी उत्तेजना बहुत बढ़ गई थी। मैंने भी उसके दोनों पैरों को चौड़ा करते हुए अपने लंड को उसकी योनि के अंदर डाल दिया और जैसे ही मैंने अपने लंड को उसकी योनि में डाला तो वह चिल्लाने लगी। अब वह पूरी तरीके से मस्त हो गई थी और उसका शरीर पूरा गर्म होने लगा था। उसका शरीर इतना ज्यादा गर्म हो चुका था की हम दोनों के पसीने पसीने होने लगे। मैंने उसे कहा कि कुछ ज्यादा ही गर्मी हो गई है लेकिन मेरा मन उसे चोदने का कर रहा था और मैं ऐसे ही उसे धक्के देते जाता। अब वह भी पूरे मूड में आ चुकी थी और उसके मुंह से भी बहुत तेज सिसकियां निकलने लगी। उसके मुंह से इतनी तेजी आवाज निकल रही थी की वह मेरे कानों तक जाती और जब वह मेरे कानों में जाती तो मैं उसे और तेज धक्का मार रहा था। वह भी मेरा पूरा साथ देती जा रही थी और अपने पैरों को बहुत चौड़ा कर रही थी वह इतना चौड़ा कर रही थी कि मेरा लंड उसकी चूत के अंदर तक चला जाता। अब जब उसका झड़ने वाला था तो उसने अपने दोनों पैरों को मिला लिया और मुझे कस कर जकड़ लिया। मैं बड़ी तेज तेज झटके मार रहा था और मैं ऐसे ही उसे चोदता जा रहा था लेकिन वह झड चुकी थी। उसने अपनी चूत को इतना ज्यादा टाइट कर लिया कि मेरा भी वीर्य झड गया और जब मेरा वीर्य गिरा तो मुझे बहुत ही थकान महसूस होने लगी। वह मुझे कह रही थी कि तुम्हारा तो बहुत ही बड़ा है। अब मैंने उसे कहा कि तुम अपनी नंगी फोटो मुझे भी भेज दिया करो तब से वह मुझे अपनी फोटो भी भेज देती है।

 


Comments are closed.




indian sex story in pdfhindi saxe storyhot kama storychudai ki kahani hindi mrantarvasna Hindi sex storyhindi kahani chudai kisasur chudaiantarvasna bahu ki chudaibahan ne kaha mai kapde utar deti hu garmi hai xxx story hinichoot ki khujlikamsutra mantradesi sexeydesi bada lund kalporntamanna nangichoot ke storysaas ki chudai hindibudhi aurat ki chudai kahanichudai new storyचूत में रंग लगाकर छोड़ा हिंदी सेक्स कहानीchudai story teacherxxx kahaniya desi moti gand mari girlfriend ki jeans top medesi aunty ki chudai ki kahanisasu ma ki chudai hindi storysexy choot me lundwww sexi kahani comhot behanmausi ki chudai photoCHUTHOTHINDIsasti chut sexy khaniyachut rasilimarathi sax storyshadi me mausi ki chudaichachi ki gand marihindihotsexykahanicall girl ki kahaniकुँवारी भाभी और ननद की कामुकता भाग 4baji ki chootwasna khanisex stories hindi mehindi sex story hindi fontXxx kahani hindi bhai ko pata chala ki baatpariwar me chudai kahaniSex kahani africameri jabardasti chudai ki kahanihindi porn comixchudai kahani papa12 sal ki ladki ki chutpyasi chudai kahaniwww bhabhi ki chutnepali ladki ki chudairamlal ne bahu ko choda2017 ki chudai storyhindi chudai desi kahanivaasnabadi mummy ki chudaihindi font sex storieslatest chudai kahani in hindikhet me gand marimaine apni behan ko chodasasur ne gand marichudai gujarati storyhindi font kahaniteacher ki chudai hindi maiDasi Hinde sex story.savita mausiPorn video.compapa ne beti ki chudai kihindi sexy story bhai behansexychutkikahanibhabhi ko pelarishtome kamuktahindistoryland and chut ki kahanimeri bur ki chudaihindi mai chudai kahanimanisha ki chudai